क्या है कश्मीर प्रीमियर लीग विवाद? क्यों इसकी वजह से बीसीसीआई और पीसीबी आई आमने-सामने

पिछले कुछ दिनों से कश्मीर प्रीमियर लीग की वजह से बीसीसीआई और पीसीबी दोनों बोर्ड के बीच तनातनी बढ़ रही है. आप सोच रहे होंगे कि कश्मीर प्रीमियर लीग क्या है और इसकी वजह से क्यों बीसीसीआई और पीसीबी आमने सामने आ गए हैं, तो हम आपकों अपने इस  आर्टिकल में इस विवाद को पूरी तरह समझाएंगे.

6 से 17 अगस्त के बीच खेला जाना है केपीएल

 कश्मीर प्रीमियर लीग
कश्मीर प्रीमियर लीग

दरअसल पीओके में कश्मीर प्रीमियर लीग का आयोजन पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड करवा रहा है. पीओके को पाक अधिकृत कश्मीर भी कहा जाता हैं. कश्मीर प्रीमियर लीग की शुरुआत 6 अगस्त से होनी हैं और फाइनल मुकाबला 17 अगस्त को खेला जाना हैं और इस टूर्नामेंट में 6 टीमें हिस्सा लेंगी. जिस तरह आईपीएल और पाकिस्तान सुपर लीग खेले जाते हैं, उसी तरह केपीएल के आयोजन की भी तैयारियां की गई है.

इन 6 टीमों की कप्‍तानी इमाद वसीम, मोहम्‍मद हफीज, शाहिद अफरीदी, शादाब खान, शोएब मलिक और कामरान अकमल को दी गई है. हर टीम में पाकिस्‍तान अधिकृत कश्मीर से पांच क्रिकेटर्स होंगे. साथ ही इस लीग में पाकिस्तान के स्टार क्रिकेटरों के साथ विदेशी खिलाड़ियों ने भी खेलना है. इस लीग में हर्शल गिब्‍स, तिलकरत्‍ने दिलशन, मोंटी पनेसर जैसे बड़े क्रिकेटर्स ने अपना नाम दिया हुआ है.

गिब्स ने आरोप लगाया था कि बीसीसीआई ने उन्हें धमकी दी

Herschelle Gibbs

ये लीग उस समय विवाद में आ गई जब हर्शल गिब्स ने आरोप लगाया था कि बीसीसीआई ने उन्हें धमकी दी है कि यदि वह कश्मीर प्रीमियर लीग में खेलेंगे, तो उन्हें भारत में किसी भी प्रकार की क्रिकेट एक्टिविटी के लिए आने नहीं दिया जाएगा.

हर्शल गिब्स ने ट्वीट करते हुए लिखा, “ये बिल्कुल गैर जरूरी है कि बीसीसीआई पाकिस्तान के साथ अपना राजनीतिक एजेंडा बीच में ले आए और मुझे केपीएल 20 में खेलने से रोके, वे मुझे धमकी भी दे रहे हैं कि वे मुझे भारत में क्रिकेट से जुड़े किसी काम के लिए कदम नहीं रखने देंगे.”

हर्शल गिब्स के इस बयान के बाद पाकिस्तानी क्रिकेटर और उनके फैंस बीसीसीआई पर भड़क गए और बीसीसीआई को लेकर गलत बयानबाजी करने लगे.

अफरीदी ने ट्वीट कर कहा, ‘ये वाकई निराशाजनक है कि बीसीसीआई एक बार फिर क्रिकेट और राजनीति को मिला रहा है. केपीएल कश्मीर, पाकिस्तान और दुनियाभर के क्रिकेट प्रशंसकों के लिए लीग है. हम एक शानदार शो पेश करेंगे और इस तरह के व्यवहार से विचलित नहीं होंगे!!’

बीसीसीआई ने आईसीसी को लिखित में अपनी नाराजगी जाहिर की

BCCI
BCCI

वहीं पीसीबी ने भी अपना एक बयान जारी करते हुए कहा, बीसीसीआई इस लीग में हिस्सा नहीं लेने के लिए कई क्रिकेटरों पर दबाव बना रही है, जो बिल्कुल अनुचित है.

हालांकि बीसीसीआई भी पाकिस्तान को करारा जवाब दे रही है और उसने अब आईसीसी से आग्रह किया है कि वो कश्मीर प्रीमियर लीग को मान्यता ना दें. ईएसपीएनक्रिकइंफो की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय बोर्ड ने आईसीसी को लिखित में अपनी नाराजगी जाहिर की है.

बीसीसीआई ने अपनी शिकायत में कहा है कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच सालों से चले आ रहे विवाद के इर्द गिर्द घूमता है. ऐसे में विवादास्पद स्थानों पर फिलहाल क्रिकेट मैच का आयोजन ठीक नहीं है. यह भारत और पाकिस्तान के बीच सदियों पुराने विवाद का केंद्र है. हालांकि अब देखना दिलचस्प होगा कि आईसीसी कश्मीर प्रीमियर लीग को मान्यता देती है या नहीं.

इस विवाद के बीच इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी मोंटी पनेसर ने कश्मीर प्रीमियर लीग से अपना नाम वापस ले लिया है. उन्होंने कहा है कि इस वक्त वो इंडिया-पाकिस्तान के किसी भी मामले में नहीं पड़ना चाहते हैं.

पनेसर ने एक ट्वीट के जरिए ये जानकारी दी. अपने ट्वीट में उन्होंने कहा, “कश्मीर को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच जो विवाद है उसकी वजह से मैंने कश्मीर प्रीमियर लीग में नहीं खेलने का फैसला किया है. मैं इन सब चीजों में नहीं पड़ना चाहता हूं और मैं वहां पर असहज रहूंगा.”

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

पॉपुलर