क्रिकेट मैदान में चोट लगने की वजह से इन 3 खिलाड़ियों की चली गई थी जान

क्रिकेट हो या कोई भी खेल सब में चोट लगना खेल का हिस्सा होता हैं. हालांकि कई बार चोट मामूली सी होती है, लेकिन कई बार यह चोट इतनी गंभीर होती है कि खिलाड़ी की जान तक चली जाती है. आज हम आपकों अपने इस ख़ास लेख में क्रिकेट मैदान में चोट लगने की वजह से मरने वाले 3 खिलाड़ियों के बारे में विस्तार से बताएंगे.

रमन लांबा (भारत)- 23 फ़रवरी 1998

raman lamba
raman lamba

भारत के पूर्व क्रिकेटर रमन लांबा बहुत अच्छे खिलाड़ी थे, उन्हें मात्र 38 साल की उम्र में ही क्रिकेट खेलते हुए अपनी जान जवानी पड़ी थी. इन्होने कुल 4 टेस्ट और 32 वनडे मैच खेले थे. अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के समाप्त हो जाने के बाद रमन लांबा, क्लब क्रिकेट खेलने 1991 में बांग्लादेश गए थे.

रमन लांबा की मौत तब हो गई जब वे बागबंधु स्टेडियम में ढाका क्लब क्रिकेट मैच में शॉर्ट लेग पर बिना हेलमेट के फील्डिंग कर रहे थे. बल्लेबाजी कर रहे मेहराब हुसैन ने गेंद को जोर से मारा और वह रमन लांबा के सिर पर लगी और उसके बाद उनकी मौत हो गई.

फिलिप ह्यूज (ऑस्ट्रेलिया)- 27 नवम्बर 2014 

फिलिप ह्यूज ऑस्ट्रेलिया के बाएं हाथ के ओपनर बल्लेबाज थे, यह ऑस्ट्रेलिया टीम के एक उभरते सितारे थे. यह सलामी बल्लेबाज होने के साथ-साथ पार्ट टाइम विकेट कीपिंग भी कर लेते थे. इन्हें क्रिकेट खेलते हुए अपनी जान मात्र 25 साल की उम्र में गवानी पड़ी थी. इन्होने अपने करियर में 26 टेस्ट और 25 वनडे मैच खेले थे.

24 नवंबर 2014 को ऑस्ट्रेलिया की घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिता शेफील्ड शील्ड में साउथ ऑस्ट्रेलिया और न्यू साउथ वेल्स के बीच एक क्रिकेट मैच खेला जा रहा था. इस मैच के दौरान फिलिप ह्यूज 63 नाबाद में खेल रहे थे, गेंदबाज ने एक बाउंसर मारी थी जो उनके सर में जा के लगी थी, हालांकि उन्होंने हेलमेट पहना हुआ था लेकिन गेंद वहा जा के लगी जहा कुछ सुरक्षा नहीं होता हैं. गेंद लगने की वजह से वह वहीं गिर पड़े, उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया था, लेकिन वहां उनकी मौत हो गयी थी.

अब्दुल अजीज (पाकिस्तान) 17 जनवरी 1959

अब्दुल अजीज पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी थे, इन्हें मात्र 17-18 साल की उम्र में ही क्रिकेट के मैदान में अपनी जान गवानी पड़ी थी. यह एक बल्लेबाज के साथ-साथ विकेट कीपर भी थे. इन्होने केवल 8 मुकाबले खेले थे, इस दौरान 21.28 औसत से खेलते हुए 149 रन बनाये थे.

काएदे-ए-आज़म का फ़ाइनल मैच खेला जा रहा था, इस मैच दौरान अब्दुल अजीज अपनी पहली पारी में बल्लेबाजी करने आये थे. उन्होंने पहली गेंद खेली जो उनके सिने में जाकर लगी थी और वह मैदान में गिर गये थे. जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाते वक्त उन्होंने दम तोड़ दिया था.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

पॉपुलर