महेंद्र सिंह धोनी के 3 शानदार रिकॉर्ड | Mahendra Singh Dhoni records

महेंद्र सिंह धोनी एक ऐसा नाम है, जिसे हर एक क्रिकेट प्रेमी अच्छी तरह से जनता होगा. ये नाम क्रिकेट जगत का एक बहुत बड़ा नाम है इन्होने अपनी कप्तानी के दम पर भारतीय टीम को कई सारे मैच जिताए हुए हैं. साथ ही अपनी बल्लेबाजी तथा विकेटकीपिंग की बदौलत कई ऐसे रिकॉर्ड बनाये हैं, जिनको तोड़ना बहुत मुश्किल है. आज हम अपने इस खास लेख में महेंद्र सिंह धोनी के कुछ ऐसे ही रिकॉर्ड के बारे में बात करने जा रहे हैं.

बतौर कप्तान आईसीसी की तीन ट्रॉफी जितने का रिकॉर्ड

MS DHONI
MS DHONI

महेंद्र सिंह धोनी एक मात्र कप्तान है, जिनके नाम आईसीसी की तीन ट्रॉफी जीतने का रिकॉर्ड है. इन्होने सबसे पहले 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप जीता था. इस टी-20 विश्व कप का फाइनल मैच इंडिया और पकिस्तान के बीच खेला गया था जिसमे इंडिया ने टॉस जीत के पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट के नुकसान पर 157 रन का स्कोर बनाया था, जिसके जवाब में पकिस्तान की टीम 152 रन पर ही आल आउट हो गयी थी.

इसके बाद धोनी ने अपनी कप्तानी में भारत को 2011 का विश्व कप जीताया था, जिसके फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम ने श्रीलंका को हराया था. वहीं धोनी ने भारत को आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी का विजेता भी बनाया था. 2013 के आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में भारत ने इंग्लैंड को हरा दिया था.

पहले भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज, जिन्होंने टेस्ट में दोहरा शतक बनाया

MS DHONI
MS DHONI

महेंद्र सिंह धोनी पहले भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज है जिन्होंने टेस्ट मैच में दोहरा शतक बनाया है. महेंद्र सिंह धोनी ने 2013 में ऑस्ट्रेलिया में के खिलाफ यह दोहरा शतक लगाया था. पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया ने खेलते हुए 380 रन बनाए थे, जिसके जवाब में इंडिया की शुरूआत अच्छी नहीं रही फिर धोनी ने मैदान में उतर के अच्छी बल्लेबाजी की और 224 रन की एक शानदार पारी खेल डाली.

उन्होंने अपनी इस शानदार पारी में 24 चौके तथा 6  छक्के लगाए. उनकी इस शानदार पारी की बदौलत इंडिया ने 572 रन का बहुत बड़ा स्कोर बनाया. उनकी इसी पारी की वजह से इंडिया ने यह मैच 8 विकेट के अंतर से जीत लिया था. धोनी को इस शानदार पारी के लिए ‘प्लेयर ऑफ़ द मैच’ चुना गया था.

अंतरराष्ट्रिय क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंपिंग करने वाले विकेटकीपर

MS DHONI
MS DHONI

महेंद्र सिंह धोनी एक ऐसे विकेटकीपर है, जिन्होंने अपने पूरे करियर में सबसे ज्यादा 195 स्टंपिंग की है. उनके नाम सबसे तेज स्टंपिंग करने का रिकॉर्ड भी दर्ज है. उन्होंने अपने वनडे में 123, टेस्ट मैच में 38 और टी-20 अंतरराष्ट्रिय में 34 स्टंपिंग की है. उनके बराबर 195 स्टंपिंग अब तक दुनिया का कोई भी विकेटकीपर नहीं कर पाया है. उन्होंने विकेटकीपर में इतनी उपलब्धि प्राप्त कर ली है कि पूरे विश्व में उनकी जितनी उपलब्धि प्राप्त करना अन्य विकेटकीपरों के लिए काफी मुश्किल है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

पॉपुलर